बाहुबली 2 द कॉन्क्लूज़न फिल्म वॉलपेपर

बाहुबली 2 द कॉन्क्लूज़न सेलिब्रिटीज

Prabhas, Rana Daggubati, Anushka Shetty, Tamannaah Bhatia


बाहुबली 2 भव्य स्टंट, दमदार अभिनय विजुअल इफेक्ट्स दृश्यों का कॉकटेल



स्टार कास्ट : प्रभास, राणा डग्गुबती, अनुष्का शेट्टी, तमन्ना, सेठीराज, नास्सर, राम्या कृष्णन, सुब्बारजू

डायरेक्टर : एस एस राजमौली

बाहुबली 2 फिल्म में क्या अच्छा है : एक शक्तिशाली कहानी, दमदार एक्टिंग, जबरजस्त एक्शन और राजमौली का डायरेक्शन प्रशंसनीय है। फिल्म में विजुअल इफेक्ट्स काफी शानदार और रोमांचक है।

बाहुबली 2 फिल्म में क्या बुरा है :
शीर्ष एक्शन सीन में कुछ सपोर्टिंग कलाकारों का काम आलोचनात्मक है।



बाहुबली 2 फिल्म क्यों देखे : मुझे यकीन है कि आप भी इस सवाल का जवाब चाहते है कि आखिर कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा इसके अतरिक्त जिन्होंने बाहुबली पार्ट देखा है वह मनोरंजन और रोमांच से वाकिफ है।

बाहुबली 2 फिल्म क्यों ना देखे : इस वक्त इस फिल्म को लेकर लोगो में काफी उत्साह है और इसलिए टिकट मिलने में दिक्कत आ रही है और लोग वर्तमान में फिल्म देखने के लिए 2000 से 2400 रुपए तक की टिकट खरीदनी पड़ रही है। आप इन सबसे बचना चाहते है तो भीड़ कम होने तक का इंतजार कर सकते है।



बाहुबली 2 फिल्म की कहानी : बाहुबली 2 फिल्म की कहानी वही से शुरू होती जहाँ से आपने इसे खत्म की थी। शिव (प्रभास) ने अपनी विरासत के बारे में सीखता है और अब हम अमरेन्द्र बाहूबली (प्रभास) की पिछली कहानी से भी परचित होते है। फिल्म की कहानी - कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा सवाल के जवाब से रिकैप से शूरू होती है।



अमरेंद्र को शिवगामी (राम्या कृष्णन) ने महिष्मती साम्राज्य का अगला राजा चुना है लेकिन समारोह में शपथ ग्रहण करने से पहले ही उन्हें अपने लोगों के बारे में गहराई में सीखने के लिए अपने नेतृत्व के तहत क्षेत्रों का दौरा करने को कहा जाता है और वह अपने दौरे पर अमररेन्द्र देवसेना (अनुष्का शेट्टी) से मिलते है। वह एक क्रोधी राजकुमारी है जो अपनी तलवार का उपयोग करना बहुत अच्छे से जानती है। उसकी सुंदरता और वीरता से बाहुबली प्रभावित हो जाता है और उसके प्यार में पड़ जाता है और देवसेना भी उसके लिए ऐसी ही भावनाएं मन में दबा कर रखती है।


शिवगामी द्वारा देवसेना एक प्रस्ताव भेजा जाता है और यही से गलतफहमी और साजिश का दौर शुरू होता है। शिवगामी को देवसेना पसंद नही है और इस पर कब्जा देवसेना और और महिष्मती के लिए लाए जाने के बारे में पूछती है। बाहुबली देवसेन के साथ आते हैं और आखिरकार और अपने प्यार के बारें में अदालत में खुलासा करते है। शपथ ग्रहण करने के लिए कि शिवगामी ने देवसेना से शादी करने के लिए भल्लादेव का भेजती है यही से बाहुबली राजा के पद से गिरते है और भल्लादेव सिंहासन लेते हैं।



भल्लालदेव राजा तो बन जाता है लेकिन उसे बार बार बाहुबली की लोप्रियता परेशान करती है और वह अपनी इस परेशानी को बाहुबली की मौत से खत्म करता है। इस सब के बीच में शिवगामी बाहुबली के बच्चे शिव को बचाने में कामयाब हो जाती है और वह अपने पिता का बदला लेता है जो बाहुबली 2 फिल्म का मुख्य थीम है।



बाहुबली : द कॉन्क्लूज़न स्क्रिप्ट रिव्यू : बाहुबली 2 की स्क्रिप्ट लिखते समय दबाव की कल्पना आप नहीं कर सकते है। निर्माताओं ने इस एक पर काम करते समय सारी उम्मीदों का ख्याल करते हुए रहस्य को छिपाने का सिद्धांत भी कायम रखा है। बाहुबली के इतिहास को फिर से स्थापित करने के लिए बाहाबली 2 की स्क्रिप्ट में हर छोटी छोटी का चीज और कहानी में मोड़ का खास ध्यान रखा गया है।



बाहुबली स्क्रिप्ट के पहले भाग में बाहुबली और देवसेना के बीच प्रेम का कोण है जिसे बहुत ही दिलचस्प तरीके से स्क्रीन पर उतारा गया है और इस हिस्से को रोमांटिक बनाने के साथ साथ थोड़ा कॉमिक भी रखा गया है। लेखकों ने कैटप्पा कठिन और कर्तव्य वाले चरित्र को भी मजाकिया चीजों के लिए ढाला है जो आश्चर्यजनक है।

देवसेना के पुराने युवा दिनों स्पष्ट रूप से पहले भाग को सही ठहराता है वह भल्लालेदेव के खिलाफ पूरी ताकत से खड़ी होती है। स्क्रिप्ट का वह दृश्य काफी प्रभावी है जिसमें बाहुबली ने में सेतुपथी को टिप्पणी करते हुए कहा था कि जो औरतों की इज्जत पर हाथ डाले, उसका हाथ नही, सर काटना चाहिए और वह काफी मजबूत टिप्पणी है।



लेखक ने प्रभावशाली तरीके से देवसेना के चरित्र को सवाल पूछने पर राजमाता शिवगामी को जवाब आत्मविश्वास पैदा करता है। इसके अतरिक्त अन्याय के साथ सेवा, जैसे कि उनकी मंजूरी के बिना शादी के लिए उतरना यह भाग भी स्क्रिप्ट का काफी बेहतरीन है। स्क्रिप्ट के पहले भाग में काफी ट्विस्ट है जो पौराणिक कथाओं से प्रेरणा लेकर लिखे गए है।



सब लोग यह देखने की प्रतीक्षा कर रहे थे कि कटाप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा इसका जवाब भी मिलता है इसके साथ साथ देवना ने अपने बेटे से मुलाकात करती है और स्क्रिप्ट का दूसरा भाग बदला और मनोरंजक है। स्क्रिप्ट का पूरा ड्रामा आपको कही भी थकाऊ पोजीसन में नही ले जाता है और हर रहस्य को एक महत्पूर्ण आकर देकर खोलता है।



एक्टिंग रिव्यू : प्रभास इस फिल्म में असाधारण लगे है, अद्भुत स्क्रीन उपस्थिति के लिए डायरेक्टर को जरुर उनका धन्यवाद देना चाहिए। बाहुबली के लिए उन्होंने शरीरक और मानसिक दोनों रूप से अपने अंदर परिवर्तन लाकर स्क्रीन पर इस भूमिका को जीवंत कर दिया है। इस परियोजना के लिए वह कितने समर्पित थे यह बात अब किसी से छुपी नही है।

अनुष्का शेट्टी देवना के रूप में सबको प्रभावित किया है। राजकुमारी अवतार में ब्यूटी की बात हो या फिर एक्शन सीन की, वह हर रूप में सब का ध्यान खींचती है। प्रभास के साथ ऑन-स्क्रीन।



सत्यराज फिल्म के प्रमुख किरदार कटप्पा की भूमिका को बहुत ही शानदार तरीके से स्क्रीन पर उतारा है। बहुबली 2 के पहमें भाग में कॉमिक को छोड़ दे तो उनकी एक्टिंग प्रशसनीय रही है।

राणा डग्गुबती को इस फिल्म में कम लाइमलाइट नही मिला है बेशक उनका बुरा काम हो लेकिन प्रभास जैसे स्थायी प्रभाव रहा है उनका फिल्म पर वह अपनी आँखों और शानदार बॉडी से भी क्लासिक एक्टिंग की है। राम्या कृष्णन शिवगामी के रूप में एक स्टनर हैं उन्होंने पहले भाग में भी प्रभावित किया था और पार्ट 2 में भी कठोर लिडर में लाजवाब लग है।



बाहुबली 2 में तमन्ना भाटिया के पास मुट्ठी भर दृश्य थे लेकिन वह अपने रोल में सुंदर आकर्षक और मोहक लगी है।

डायरेक्शन रिव्यू : एस एस राजमौली ने इस शुक्रवार को फिल्म इंडस्ट्री का इतिहास बदलने वाली फिल्म को रिलीज किया गया। हाउसफुल थियेटर और लोगो में फर्स्ट शो देखने की हर मुमकिन प्रयास इस फिल्म की लोकप्रियता को दर्शाता है। फिल्म की उत्तेजना को देखते हुए जैसे ही प्रभास की एंट्री होती है उस वीर के लिए लोग सीटियों और तालियाँ सीटों से उछल कर बजाते है।



वीएफएक्स विशेषज्ञों द्वारा बनाए गए खूबसूरत महल के लंबे शॉट्स और महिष्मती बहुत ही शानदार थी। देवसेना साम्राज्य भी बहुत सुंदर था राज्मौली ने इसके लिए डिज्नी टाइप फिलिंग दी है। रोमन प्रेरित युद्ध और ड्रामा इस फिल्म को अधिक बेहतर बनाते है। प्रभास और राणा के फिल्म के दोनों प्रमुख चेहरों को शानदार ढंग से कोरियोग्राफ किया गया है उनके हर छोटे बड़े मूव्स को डायरेक्टर ने बाहुत ही सुंदर रूप से स्क्रीन पर उतारा है। फिल्म दक्षिण इंडस्ट्री की है यह दर्शाने के लिए नारियल का पेड़ का उपयोग शानदार तरीके से किया गया है।



बाहुबली पार्ट 2 में डायरेक्टर राजमौली चट्टान और झरने से आगे बढ़ते हुए डिज्नीलैंड की तरह जहाज मक्खियों तक पहुंचे है। राजमौली ने अपने वादे के अनुसार भव्यता को अधिक बड़ा और बेहतर बना दिया है। बाहुबली और देवसेना के बीच एक विशेष धनुष और तीर के अतरिक्त रोमांस को जिस रूप से पेश किया है वह फिल्म का सबसे बड़ा सरप्राइज गिफ्ट साबित होता है।



बाहुबली सेतुपति का सिर और जहां हम बाहुबली की ओर आम लोगों के समर्पण को देखते हैं वह बहुत शक्तिशाली दृश्य हैं। मनोरंजक एक्शन ड्रामा इस फिल्म को पेश करने में डायरेक्शन टीम ने अपना उच्च स्तरीय काम पेश किया है। ध्वनि डिजाइनिंग को गहराई में ना देखा जायें जैसे तलवार की कर्कशता की आवाज तो फिल्म का डायरेक्शन पार्ट इतिहासिक रहा है।

बाहुबली 2 द कॉन्क्लूज़न फिल्म वीडियो

     

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Latest Movies Wallpapers