बार बार देखो फिल्म वॉलपेपर

बार बार देखो सेलिब्रिटीज

Sidharth Malhotra , Katrina Kaif


localaddress.in रिव्यू: वन टाइम वाच मूवी


कैटरीना कैफ, सिद्धार्थ मल्होत्रा फिल्म के टाइटल को सार्थक करने में विफल हुए


स्टार कास्ट : सिद्धार्थ मल्होत्रा, कैटरीना कैफ, राम कपूर, सारिका, रोहन जोशी, सयानी गुप्ता, रजित कपूर


डायरेक्टर : नित्या मेहरा


बार बार देखो फिल्म में क्या अच्छा है : काफी समय के बाद बॉलीवुड में रोमांटिक फिल्म देखने को मिली है। विदेशी खूबसूरत लोकेशन बेहतरीन स्टार कास्ट और संगीत से सजी है बार बार देखो फिल्म।


बार बार देखो फिल्म क्या बुरा है : फिल्म का दूसरा भाग और लगातार सिद्धार्थ मल्होत्रा का उलझना दर्शकों को अधिक पसंद नही आता है।

फिल्म क्यों देखें : अगर आप लव स्टोरी देखना पसंद करते है तो आपको यह फिल्म पसंद आ सकती है इस फिल्म में कटरीना और सिद्धार्थ की केमिस्ट्री देखने लायक है।


फिल्म क्यों ना देखें : निश्चित ही यह फिल्म बार बार देखो अपने टाइटल पर खरी नही उतरती है। इस फिल्म में खामियों का अपना हिस्सा है अगर आप उनको ध्यान में रखते है तो आपको यह फिल्म बोर कर सकती है।



बार बार देखो फिल्म की कहानी : जय वर्मा (सिद्धार्थ मल्होत्रा) और दीया कपूर (कैटरीना कैफ) बचपन के प्रेमी है। जय एक प्रतिभाशाली गणितज्ञ होने के साथ-साथ बहुत महत्वाकांक्षी है जबकि उनकी गर्लफ्रेंड दीया एक उत्साही कलाकार है और उसका जीवन में सिर्फ एक सपना है की वह जय से शादी करके श्रीमती वर्मा बन जाएं।



दोनों की जब शादी हो रही होती है उस वक्त जय खुद को रिश्ते में फंसा हुआ महसूस करता है और उसको लगता है शादी करके वह अपने कैरियर को प्रभावित करने वाला समझौता कर रहा है और उस वक्त कहानी के प्लाट में एक बड़ा ट्रैवलिंग ट्विस्ट आता है और वह भविष्य में चला जाता है जहाँ पर हनीमून बच्चे की डिलेवरी और रिटायरमेंट की यात्रा करने के बाद उसका अंत समय भी करीब आता है। जय और दिया का क्या अंत है यह जनाने के लिए आपको सिनेमाघर में जाना है।

स्क्रिप्ट समीक्षा : बार बार देखों फिल्म आज के युवा रिश्ते का एक दर्पण है जो दिखाता है की हममें धैर्य की कमी आ गयी है और बेहतरीन रोमांस के लिए हमारे पास समय नही है ऊंची उड़ान करियर और भौतिकवादी खुशी के साथ बहुत ज्यादा की चाह में जय की तरह हम असली ख़ुशी को भूलते जा रहे है।



लेखक इस प्रेम कहानी को यात्रा के रूप में पेश किया है यह यात्रा 2016 से पीछा करते हुए 2023 तक जाती है। इस तरह की यात्रा वाली कहानी हॉलीवुड में पहले भी देखा जाता रहा है लेकिन बॉलीवुड की यह फिल्म किसी से मेल नही खाती है। फिल्म के दूसरे भाग की स्क्रिप्ट के निर्माण पर अधिक ध्यान ना देकर उसे लपेटने का प्रयास किया गया है।


फिल्म का पहला भाग तो अच्छा बना पड़ा है लेकिन दूसर भाग में बार बार दोहराव पर बेहतर काम किया जा सकता था। फिल्म में यह बताने का प्रयास किया गया है समय सब का जवाब है सब दर्द, गलत बातचीत पर मरहम लगाने और अधिकांश प्यार सब कुछ समय पर निर्भर होता है।



एक्टिंग : जय जो अधिकतर काल्पनिक दुनिया और उलझन में रहता है उसकी भूमिका को सिद्धार्थ मल्होत्रा ने अच्छी तरह से निभाया है। फिल्म में 46 की उम्र की लुक की बात हो या फिर कटरीना जैसी बड़ी एक्ट्रेस से रोमांस किसिंग सीन की हो हर सीन में सिद्धार्थ ने प्रभाव छोड़ने की पूरी कोशिश की है और उसमें कुछ हद तक कामयाब भी रहे है।

फिल्म की अभिनेत्री कैटरीना कैफ इस फिल्म में बेहद हॉट बोल्ड और सुंदर लगी है। कटरीना के भावनात्मक दृश्यों को निकाल दिया जाएं तो उन्होंने काफी बेहतर काम किया है। भावनात्मक सीन में उनकी एक्टिंग कमजोर लगती है लेकिन उनकी लुक के आगे यह खामियां बड़ी आसानी से छुप जाती है। राम कपूर की भूमिका मजेदार है और एक पिता के रूप में एक बार फिर उन्होंने साबित किया है की वह बेहद अच्छे एक्टर है।



सारिका, रोहन जोशी, सयानी गुप्ता और रजित कपूर ने अपनी अपनी भूमिका को सही से निभाया है।


डायरेक्शन और म्यूजिक रिव्यू : नित्या मेहरा ने बार बार देखो फिल्म से डायरेक्शन में डेब्यू किया है। निश्चित ही वह डायरेक्शन लाइन में फ्रेश है लेकिन उनके अंदर करण जौहर स्टाइल में स्टोरी पेश करने के संकेत साफ़ नजर आते है। नित्या मेहरा ने फिल्म के विषय तो काफी बड़ा और मजेदार चुना था लेकिन वह 'आज, कल और आने वाले कल' में खुद भी उलझते हुए नजर आते है। स्क्रिनप्ले को बेहतर करके फिल्म को और अधिक बेहतर बनाया जा सकता था।

मेहरा की इस फिल्म में वास्तविक समस्याओं को ढुलमुल गति के साथ दिखाया गया है। फिल्म समय के आसपास धीमा गति से और लंबे समय तक घुमती हुई नजर आती है इसलिए दर्शक थोडा निराश हो जाते है , नित्य कैटरीना को दो बच्चों की मां दिखाने में भी नाकामयाब हो गए है।



डायरेक्टर नित्या जी जय और दीया के हनीमून में थाईलैंड की खूबसूरती और रोमांस के नए तरीको को बेहद आकर्षक रूप से पेश किया है। फिल्म की सिनेमेटोग्राफी ने हर किसी को प्रभावित किया है।


फिल्म के गीतों की बात करें तो नेहा कक्कड़ बादशाह और अमर अर्शी की आवाज में गाया काला चश्मा गीत का सबसे सुपरहिट सोंग है। तेरी खैर मंगदी और नाचदे ने सारे फिल्म के अन्य बेहतरीन गीत है। इन गीतों के अतरिक्त सौ असमान ,खो गये हम कहा साधारण है।





बॉलीवुड स्टार कलाकारों से सजी बार बार देखो फिल्म एक ऐसी कमर्शियल रोमांटिक फिल्म है जिसकी शुरुआत तो शानदार ढंग से होती है लेकिन अपने अंत मुकाम तक पहुंचते पहुंचते फिल्म दम तोड़ देती है।

बार बार देखो फिल्म वीडियो

        

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Latest Movies Wallpapers