बाजीराव मस्तानी फिल्म वॉलपेपर

बाजीराव मस्तानी सेलिब्रिटीज

Ranveer Singh , Deepika Padukone , Priyanka Chopra , Arjun Rampal


बाजीराव मस्तानी 2015 की एक कीमती सेट और बेहतरीन एक्टिंग से सजी फिल्म है

संजय लीला भंसाली एक बार फिर से ऐतिहासिक लव स्टोरी बाजीराव मस्तानी को भव्य अंदाज में लेकर हाजिर है। 2 घंटे 36 मिनट की बाजीराव फिल्म में बॉलीवुड के उम्दा कलाकार रणवीर सिंह,दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा ने अभिनय किया है।



बाजीराव मस्तानी में राजनीतिक लड़ाई, षड्यंत्रों,मान मर्यादा और लव ट्रायंगल है और जिसे डायरेक्टर भंसाली जी ऐतिहासिक चरित्रों के बीच बड़ी खूबसुरती से पिरोया है। संजय लीला भंसाली इससे पहले देवदास फिल्म लव ट्रायंगल को बेहद भव्य तरीके से पेश कर चुके है और वह फिल्म लोगो के दिल में उतर गयी थी। आइयें देखते है इस बार बाजीराव मस्तानी के साथ भंसाली जी कितने कामयाब हुए है।


बाजीराव मस्तानी फिल्म की पूरी कहानी : बाजीराव मस्तानी फिल्म की कहानी संजय लीला भंसाली और स्क्रीनप्ले प्रकाश कपाड़िया ने लिखा है। मराठा योद्धा बाजीराव पेशवा (रणवीर सिंह) रणभूमि में काफी तेज है। वह कई तरह की युद्धकला में पूर्ण माहिर है और उसने अब तक 40 युद्ध जीते हैं। बाजीराव पेशवा धर्म और शास्त्र के अनुसार ही प्रजा पर राज करता है। बाजीराव पेशवा के निजी जीवन में एक पत्नी काशीबाई (प्रियंका चोपड़ा) है जो अपने पति पर विश्वास के साथ प्रेम करती है लेकिन यह फिल्म इन दोनों के प्रेम की नही बलिक मस्तानी (दीपिका पादुकोण) से प्रेम की है।



एक अभियान के दौरान जब मुगल बुन्देलखण्ड के परिवार को घेर लेते है तो परिवार की सदस्य मस्तानी बाजीराव के युद्ध कला की तारीफ सुन कर मदद मांगती है और उसी अभियान में मस्तानी की बहादुरी देखकर बाजीराव आकर्षित हो जाता है और एक दिन दोनों ऐसी भूल कर बैठते है जिसके बाद दोनों की जिंदगी बदल जाती है। मस्तानी उस भूल को अपने जीवन का अहम हिस्सा मान लेती है जिसके बाद पेशवा की निजी जिन्दगी में पत्नी और परिवार साथ रिश्ते तनावपूर्ण बनने लगते है और इस तरह कहानी लव ट्रायंगल की तरफ चल पड़ती है और इस प्यार में धर्म, मान मर्यादा,राज पाठ ,रिश्ते सब कुछ दांव पर लग जाता है क्योकि मस्तानी एक मुस्लिम है।



मस्तानी के प्यार में कैद हो रहे पेशवा जो कभी कोई युद्ध नही हारा है वह अपने मराठा साम्राज्य के बीच का तालमेल बैठा पाता या फिर के आगे हार कर अपना प्यार हार जाता है यही इस फिल्म की स्टोरी है जिसके लिए आपको सिनेमाघर तक जाना है।


डायरेक्शन : संजय लीला भंसाली ने इस फिल्म में कमाल का डायरेक्शन किया है और ऐसा होता भी क्यों ना आखिर यह बॉलीवुड के टॉप डायरेक्टर का ड्रीम प्रोजेक्ट जो था जिसे वह लगभग 10 साल पहले बनाना चाहते थे। भंसाली जी ने 250 दिन के शूट की कड़ी मेहनत और तकरीबन 150 करोड़ रूपये के बजट को अपने अनुभव से सार्थक बना दिया है।


संजय लीला भंसाली ने फिल्म के एक एक फ्रेम एक एक दृश्य और सवाद पर कड़ी मेहनत की है जो पर्दे पर साफ़ नजर आती है। संजय लीला भंसाली ने कलाकारों के कपड़े,सेट की भव्यता के साथ-साथ कलाकारों को जो लुक दिया है वह काबिलेतारीफ है।


संजय लीला भंसाली ने इस फिल्म में कड़ी मेहनत की है लेकिन सिनेमाघरों में बैठे दर्शकों को फिल्म की स्टोरी गानों की वजह से अधिक लंबी लगती है। इसके अलावा फिल्म में छोटी-छोटी खामियां है लेकिन वह फिल्म को किसी भी रूप से प्रभावित करती है। कुल मिलाकर कहा जाएं तो संजय लीला भंसाली ने फिल्म को बेहतरीन डायरेक्शन और सवांद दिया है जो कानों और आँखों के देखने में बेहद मनोरंजक और लुभवाना लगता है।


एक्टिंग : बाजीराव मस्तानी की पूरी फिल्म रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण की है और जिस तरह से रणवीर सिंह ने इस फिल्म में एक्टिंग की है उसे देखकर निश्चित ही कहा जा सकता है कि रणवीर सिंह के फ़िल्मी करियर में यह अब तक की सबसे बेस्ट परफॉरमेंस है। रणबीर सिंह और तेजतर्रार दीपिका के बीच की केमिस्ट्री काफी जबरजस्त नजर आई है। एक योद्धा के रूप में रणबीर सिंह काफी अच्छे लगे है इसके अलावा उन्होंने डायलाग हिंदी और मराठी में बोलने में,तलवार चलने की कला पर भी काफी मेहनत की है।



रणबीर सिंह के अलावा दीपिका ने भी इस फिल्म में कमाल की सुंदर लगी है इसके आलावा उन्होंने इस फिल्म से उन आलोचकों का भी मुहं भी बंद कर दिया है जो दीपिका में पर हर फिल्म में एक जैसी एक्टिंग करने का आरोप लगाते रहे है। दीपिका की एक्टिंग आपको जरुर पसंद आएगी। इन दोनों के अलावा फिल्म की तीसरी मुख्य कलाकार प्रियंका चोपड़ा ने अपने रोल को बखूबी अंदाज से निभाया है।



गीत संगीत : फिल्म के गीत संगीत को इस फिल्म की कमजोर कड़ी कहा जाए तो यह गलत नही होगा। बाजीराव फिल्म का संगीत संजय लीला भंसाली और संचित बल्हारा ने दिया है। किसी भी लव स्टोरी वाले फिल्म में गीत संगीत अहम होते है लेकिन इस फिल्म में कोई भी गीत ऐसा नही है जो फिल्म की कहानी से मेल खाते हो। फिल्म में पिंगा गीत फेमस है लेकिन इतना अच्छा नही है की कानों को हरदम अच्छा लगे। फिल्म का दूसरा अहम गीत मल्हारी है जो जोश से भरा हुआ है। फिल्म में अच्छे गीत की बात करें तो दीवानी मस्तानी ऐसा बन पड़ा जिसे दर्शक सिनेमाघर के बाहर भी सुन रहे है। इन गीतों के अतिरिक्त फिल्म के सभी गीत सामान्य है जिन्हें खास नही कहा जा सकता है।


क्यों देखें : संजय लीला भंसाली की भव्यता,रणबीर सिंह की एक्टिंग, दीपिका का अंदाज और प्रियका का मौजुद्की को बेहतरीन ढंग से एक जगह पर देखने के लिए बाजीराव मस्तानी जरुर देखें।


क्यों ना देखें : अगर आप ऐतिहासिक फिल्मों से छेड़छाड़ पसंद नही करते और रणभूमि में लड़ाई के अलावा रोमांस पसंद नही है तो इस फिल्म को हरगिज ना देखें।












बाजीराव मस्तानी फिल्म वीडियो

        

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Latest Movies Wallpapers