फुकरे रिटर्न्स फिल्म वॉलपेपर

फुकरे रिटर्न्स सेलिब्रिटीज

Richa Chadha,  Pulkit Samrat , Priya Anand, Vishakha Singh , Varun Sharma, Manjot Singh


फुकरे रिटर्न्स काफी फनी लेकिन पहले पार्ट जैसी नही


स्टार कास्ट : पुलकित सम्राट, मंजोत सिंह, अली फजल, वरुण शर्मा, रिचा चड्ढा, पंकज त्रिपाठी, विशाखा सिंह, प्रिया आनंद


डायरेक्टर : मृगदीप लांबा


फुकरे रिटर्न्स मूवी में क्या अच्छा है : लगातार मूवी में हास्यजनक सीन आते रहते है,विपुल विग ने स्ट्रीट स्टाइल में इस फिल्म को लिखा है और उन्होंने वरुण शर्मा उर्फे चुजें के संस्करण को इस पार्ट में बखूबी बढ़ाया है। यह मूवी आपके प्रेशर को कम करके आपके चेहरे पर जोर से हंसी लाती है।


फुकरे रिटर्न्स मूवी में क्या बुरा है
: कहानी में कुछ खामियां और कुछ अस्पष्टीकृत बातें; स्क्रीनप्ले इस फिल्म को वह मुकाम नही दे पाया है जो फर्स्ट पार्ट में था।


फिल्म क्यों देखे : यदि आप उन लोगो में से है जिन्होंने फुकरे को हिट बनाया था तो आप एक बार फिर जाकर मूवी को एंटरटेनमेंट कर सकते है।


फिल्म क्यों ना देखे : यदि आप इस फिल्म की तुलना फुकरे से करेंगे तो आपको यह निराश कर सकती है।


फुकरे रिटर्न्स  फिल्म की पूरी कहानी : फुकरे रिटर्न्स की स्टोरी अन्य सीक्वल्स के उल्ट कहानी को आगे ले जाते हुए वहां से शुरू होती है जब भोली पंजाबन (रिचा चड्ढा) जेल में है। फुकरे ग्रुप जिसमें हनी (पुलकित सम्राट),चूजा (वरुण शर्मा), लाली (मंज़त सिंह) और जफर (अली फजल) शामिल हैं वें सभी चूजे का सपना पूर्व कड़ी की तरह बेचने पर खुश है।


चूचा भोली पंजाबन के साथ नागिन डांस कर रहा होता है यही से फुकरे रिटर्न्स शुरू होती है। फिल्म फर्स्ट भाग से म्यूजिक के साथ जोडती है हनी अपनी गर्लफ्रेंड प्रिया (प्रिया आनंद) को इंग्लिस पप्पी अर्थात फ्रेंच किस का प्रयास कर रहा है जबकि जफर नीतू (विशाखा सिंह ) के साथ गोवा में शादी की योजना बना रहा है जबकि लाली को आज भी दिल की राजकुमारी की तलाश पुरे दिल से कर रहा है।


इस पार्ट में बहुत सारे ट्विस्ट आते है। भोली पंजाबन कुख्यात राजनीतिज्ञ बाबूलाल भाटिया की मदद से जेल से बाहर आ जाती है। भोली जेल बाहर आकर अपने गिरोह से फुकरे दोस्तों से बदला लेने की योजना बनाती है लेकिन उसकी योजना उस पर ही भारी पड़ जाती है।


भोली पंडित (पंकज त्रिपाठी) की किडनैप करती है और स्टोरी में ट्विस्ट आने आने शुरू हो जाते है। फिल्म में आगे की बाकी कहानी फिर से चूजे से घुमती है। यहाँ से पूर्व-कल्पना और खजाने के रहस्य की शुरुआत होती है। शेष कहानी बाधाओं और मनोरंजन से भरी हुई है। भोली और उसके साथियों का और इन इन चारो दोस्तों का अंत में क्या होता है यह देखने के लिए आपको सिनेमा घर तक जाना है।


स्क्रिप्ट रिव्यू: - लेखक विपुल विग ने स्क्रिप्ट के आकर्षण को बनाए रखा है स्क्रिप्ट में यहां और कुछ खामियां हैं, लेकिन आम दर्शकों से वह काफी दूर है। फिल्म अद्भुत रूप से फ़्लैश बैक गीत के साथ शुरू होती है और फर्स्ट पार्ट का वर्णन करने का तारिका लाजवाब है। अगर आपने फर्स्ट पार्ट नही देखा है तो आसानी से इसका आनंद उठा सकते हैं। इस फिल्म की स्टोरी में कुछ आश्चर्यजनक घटनाएं लिखी है लेकिन घटनाओं की बेहतर व्याख्या और कहानी में कुछ पुनर्जन्म और जादू की एंट्री में होती है। स्क्रिप्ट की घटनाओं का निर्माण इस तरह से किया गया है कि ठोस तरीके से आपको विस्वास में लेती है।


स्क्रिप्ट में रखे डायलॉग्स काफी मजेदार है।


स्टार परफॉरमेंस : फुकरे मूवी मुख्य रूप से वरुण शर्मा की है। फिल्म में जोर से हंसने वाले कई सीन है। फिल्म को देखकर लगता था कि फुकरे पार्ट 2 में उनकी भूमिका के लिए कुछ खास नही होगा लेकिन इस आदमी ने चूजे को रोल को कई गुणा बेहतर हुआ है।


भोली के रूप में ऋचा चड्ढा ने हमेशा की तरह इस बार भी अपनी बेहतरीन परफॉरमेंस दी है। पुलकित सम्राट और पंकज त्रिपाठी फिल्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। दोनों अपने पात्रों के साथ उत्कृष्टता से पेश करते है। त्रिपाठी जी ने इस फिल्म से एक बार फिर यह साबित किया है कि वह बी-टाउन में सबको पसंद आने वाले कलाकार क्यों है।


अली फजल और मनोजत सिंह का रोल इस फिल्म में कम रहा है। विशाखा सिंह और प्रिया आनंद के फर्स्ट पार्ट से तुलना करें तो यह समझना मुश्किल है कि इस फिल्म में उनको नजरअंदाज किया गया है उनके हिस्स कुछ अतीत के अतिरिक्त कुछ खास नही है।


डायरेक्शन रिव्यू : मृगदीप सिंह लांबा ने बहुत ही मनोरंजक तरीके से इस स्टोरी को पैक करके दर्शकों के सामने पेश किया है। सब कुछ एक के बाद एक करके बहुत अच्छी तरह से रखा गया था। यह कॉमेडी फिल्म है लेकिन प्रयासों के बावजूद पूरी तरह हंसाने में आपको सफल नही होती है।


डायरेक्टर ने मूवी का क्लाइमेक्स काफी पुराने वर्जन में पेश किया है जिसे और भी अच्छा किया जा सकता था। फिल्म में लाली के साथ-साथ जफर की लव स्टोरी थी जिसे नजरअंदाज कर दिया गया। फिल्म का स्क्रीनप्ले और एडिटिंग इस मूवी का सबसे बुरा पॉइंट है। फिल्म में दिल्ली को काफी अच्छे से दिखाया गया है यह काफी अच्छा रहा है।


फिल्म के संगीत की बात करें तो वह भी उत्तम नही है। ओ मेरी महबूबा को नए अंदाज में पेश करने के तरीका दर्शकों को पसंद आयेंगा। तू मेरा भाई नहीं गीत अपने बोल की वजह से आपको याद रह जाएगा। बाकी अन्य गीत फिल्म की स्टोरी के हिसाब से ठीक है।


इस फिल्म में टाइगर भी अहम भूमिका निभाता है इसलिए टाइगर जिंदा है मूवी आने से पहले इसे देखा जा सकता है।

फुकरे रिटर्न्स फिल्म वीडियो

        

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Latest Movies Wallpapers