जब हैरी मेट सेजल फिल्म वॉलपेपर

जब हैरी मेट सेजल सेलिब्रिटीज

Shahrukh Khan , Anushka Sharma , Evelyn Sharma , Sayani Gupta, Chandan Roy Sanyal, Aru Krishansh Verma, Paras Arora


हैरी मेट सेजल फिल्म का शोर्ट रिव्यू


स्टार कास्ट: शाहरुख खान, अनुष्का शर्मा


डायरेक्टर : इम्तियाज अली


हैरी मेट सेजल फिल्म में क्या अच्छा है : शाहरुख खान ने एक बार फिर से साबित कर दिया है कि वह कुछ भी कर सकते है। इस उम्र में भी शाहरुख के आज के कई युवाओं को अपने चार्म से पीछे छोड़ते नजर आते है। इम्तियाज अली के कमाल का डायरेक्शन,प्रीतम और इर्शाद का म्यूजिक और अनुष्का शर्मा के बेहतरीन परफॉरमेंस कमाल का रहा है।


हैरी मेट सेजल फिल्म में क्या बुरा है : फिल्म सेकंड हाफ में अपना आकर्षण कायम नही रख पाती है।


फिल्म क्यों देखे : शाहरुख खान और अनुष्का की प्यारी नोकझोंक और ख़ास कर उन रोमांटिक क्षणों को बिलकुल छोड़ना नही चाहेंगे इसके अतिरिक्त शाहरुख और अनुष्का की केमिस्ट्री ने एक बार फिर रंग दिखाया है।


फिल्म क्यों नही देखे : अगर आपको शाहरुख खान और रोमांटिक फ़िल्में पसंद नही है तो आप इस फिल्म को छोड़ सकते है।
हैरी मेट सेजल फिल्म की पूरी समीक्षा


हैरी मेट सेजल फिल्म की पूरी कहानी : हैरी मेट सेजल के स्टोरी इतनी कठिन नही है जितना अक्सर इम्तियाज अली की होती है। फिलोसफी से भरी यह फिल्म एक टूर गाइड के जीवन पर आधारित है जिसका कुछ खो गया है। हरिंदर सिंह नेहरा उर्फ हैरी (शाहरुख खान) हॉलैंड में एक टूर गाइड और वह किसी चीज की तलाश कर रहा है उसे खुद नही पता है।


दार्शनिक जी रहे हैरी के जीवन में उत्साह तब आता है जब कहानी और उसके जीवन में सेजल जावेरी (अनुष्का शर्मा) आती है। सेजल जो खोई हुई रिंग के लिए भारत लौटती है वह हैरी के ग्रुप का हिस्सा बन जाती है। सेजल की रिंग खो जाने से उसका मंगेतर काफी नाराज है और वह जल्द से जल्द रिंग की तलाश कर लेना चाहती है।


शुरू में सेजल की रिंग यात्रा बेवकूफफी भरा लगता है लेकिन यात्रा पर निकलने के बाद कहानी आगे बढ़ती है और उसके बाद रोमांच,नोकझोक ,रोमांटिक रोमांस और दिल की भावनाओं को तूफ़ान उड़ेल जाता है। सेजल बार-बार हैरी को बताती है कि वह टूर गाइड के प्यार में पड़ कर अपनी सगाई नही तोड़ सकती है।


इम्तियाज़ ने फिल्म की कहानी के दूसरे भाग में जमकर फिलोसफी है। सेजल टूर गाइड के प्यार में पड़ कर अपनी सगाई तोड़ देती है या नही आपको यह देखने के लिए सिनेमा घर तक जाना है।


स्क्रिप्ट रिवयू : इम्तियाज अली की पिछली फ़िल्में जैसे जब वी मेट, लव आज कल, रॉकस्टार, तमाशा की तरह ही इस फिल्म की स्क्रिप्ट में बहुत सारी समानताएं हैं। अनुष्का शाहरुख खान इस फिल्म में 'पलट' पल का पूरा आनंद लेती है। स्क्रिप्ट के दूसरे भाग रोमांच गिरता है और फिल्म हल्की फीकी हो जाती है। इम्तियाज की यह स्क्रिप्ट आपको अधूरेपन की भावना से थिएटर के बाहर निकाल देते है लेकिन फिर भी आपको संपूर्ण पैकेज लगता है। इम्तियाज ने यह स्क्रिप्ट बुडापेस्ट, प्राग, बर्लिन, लिस्बन, विएना आदि शहरों से गुजरती है। स्क्रिप्ट के सबसे अच्छा सीन तब आता है जब इमोशन और अकेलेपन को समुंद्र के सहारे पार पाने की कोशिश कर रहे होते है और उनके पीछे चुपचाप अनुष्का बैठी रहती है और तभी एकदम से शाहरुख अनुष्का को गले लाकर अपन दुःख बांटने को कहते है। स्क्रिप्ट का सीन जितना अच्छा लिखा गया है उतना ही अच्छा फिल्माया भी गया है।

स्टार परफॉरमेंस : हरिंदर सिंह नेहरा उर्फ हैरी का रोल शाहरुख खान से अच्छा इंडस्ट्री में कोई और नही प्ले कर सकता था। इस फिल्म में आपको विंटेज शाहरुख खान देखने को मिलेंगे। कॉमेडी, रोमांस, नाटक शाहरुख ने हर रूप से दर्शकों का मनोरंजन बहुत ही उम्दा तरीके से किया। शाहरुख को रोमांस का राजा उपनाम क्यों दिया जाता है इस फिल्म को देखकर आपको भी यकीन हो जाएगा कि यह लेबल उनके नाम के साथ ही अच्छा लगता है।


अनुष्का शर्मा ने भी अपनी भूमिका के साथ पूरा न्याय किया है। अनुष्का ने अपनी इस फिल्म में गुजराती उच्चारण का भी खास ध्यान रखा है। अनुष्का का किरदार अंत में थोडा स्टीरियोटाइप हो जाता है लेकिन फिर भी आप सिनेमाहाल से बाहर हैरी मेट सेजल की यादों से निकलते है।


डायरेक्शन और म्यूजिक रिव्यू : इम्तियाज अली ने इस फिल्म की कहानी से यह बताने का प्रयास किया है कि प्यार का अर्थ नहीं होता है लेकिन इसे प्यार के आलावा कोई भी परिभाषित नही कर सकता है। डायरेक्टर ने फिल्म में पहले भाग को पूरी तरह की मस्ती फ़्लर्ट से भरा है लेकिन फिल्म का सेकंड हाफ को डायरेक्टर ने थोडा कमजोर कर दिया।


फिल्म एक टूरिस्ट गाइड पर थी इसलिए इम्तियाज अली ने फिल्म की लोकेशन और परफॉरमेंस पर काफी ध्यान दिया है। इम्तियाज की यह फिल्म वन टाइम वाच फिल्म है क्योकि इस फिल्म में गहराई को थोड़ी कमी है इसके अलावा फिल्म को थोडा छोटा किया जा सकता था और सेकंड हाफ की कमियां छुप सकती थी।


फिल्म के गीत संगीत की बात करें तो फिल्म में कई गाने है जो आपको बोरियत से भर देते है राधा, हवाएं, सफर और फुर्र अच्छे गी है लेकिन स्टोरी के बीच फिल्मों के गीत उतने अच्छे नही लगते है इसके अतिरिक्त फिल्म का क्लाइमेक्स टिपिकल बॉलीवुड स्टाइल में है।


शाहरुख खान और अनुष्का शर्मा की इस यात्रा में शामिल हो सकते है लेकिन यह एक यादगार यात्रा नही होगी।

जब हैरी मेट सेजल फिल्म वीडियो

        

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Latest Movies Wallpapers