कुछ कुछ लोचा है फिल्म वॉलपेपर

कुछ कुछ लोचा है

कुछ कुछ लोचा है सेलिब्रिटीज

Ram Kapoor, Sunny Leone , Evelyn Sharma


दिमाग की दही करती फिल्म है कुछ कुछ लोचा


कुछ कुछ लोचा है फिल्म देखने का अर्थ है अपने मेहनत के पैसे को सिनेमा में बोर होने के लिए खर्च करना,हमारा सीधे शब्दों में कहने का मतलब है कुछ कुछ लोचा है सिनेमा में देखने का अर्थ पैसे और समय दोनों की सिर्फ और सिर्फ बर्बादी है। ऐसा हम इसलिए कह रहे है क्योकि ना ही सनी लियोन का इसमे कोई बोल्ड अवतार है जिसके लिए वह जानी जाती है और ना ही फिल्म में उनकी कोई एक्टिंग है। इसके अलावा सबसे बड़ी बात ये है कि फिल्म की कहानी भी कुछ खास नही है।





कुछ कुछ लोचा है फिल्म की कहानी : कुछ कुछ लोचा है विदेशी परिदृश्य पर बनी एक गुजराती परिवार की कहानी है। पीपी उर्फ प्रवीण पटेल (राम कपूर) मलेशिया में रहने वाला एक मध्यम व्यापारी है जिसके स्टोर का नाम 'पटेल स्टोर्स' है। प्रवीण पटेल एक शादीशुदा मध्यम आयु वर्ग का गुजराती आदमी है जो हर जगह हसीन औरतों को निहारता रहता है पर उसका असली क्रश बॉलीवुड अभिनेत्री शनाया (सनी लियोन) पर है और उसकी जिन्दगी की एक ही तमन्ना है कि एक बार उसकी मुलाकात शनाया से हो जाएँ। फिल्म में पटेल और शनाया की मुलाकात का वक़्त तब आता है जब कुआलालंपुर में आयोजित प्रतियोगिता "डेट विद दीवा" प्रवीण पटेल कुछ-कुछ लोचा करके जीत जाता है। प्रतियोगिता जीतने के बाद से ही पटेल का बरसों का सपना पूरा हो जाता है और वह वेलेन्टाइन डे पर शनाया के साथ डेट पर जाने का समय तय करता है। फिल्म में इन दोनों के अलावा पटेल की बीवी कोकिला (सुचित्रा त्रिवेदी) है जो घरेलू गुजराती महिला और उनके पास पति पटेल के लिए बिलकुल समय नही है इसके अलावा फिल्म में पटेल का बेटा (नवदीप छाबड़ा) जिगर है जिसकी एक हॉट सेक्सी सी गर्लफ्रेंड (नैना) फिल्म में जितने भी लोचे है सभी इन्ही किरदारों के बीच है और फिल्म की सारी कहानी कोकिला के गुजरात जाने के बाद तेजी पकड़ती है।





कुछ कुछ लोचा है फिल्म का रिव्यू : डायरेक्टर देवांग ढोलकिया फिल्म को बनाने में काफी कन्फूज रहे है। फिल्म में उन्होंने सिंपल कॉमेडी के अलावा एडल्ट कॉमेडी भी डालने की कोशिश की है पर अच्छे से कुछ नही भी हो पाया है। फिल्म में डायरेक्टर ने अनायास ही गानों की झड़ी लगा रखी है। फिल्म में दो-दो हॉट अभिनेत्री सनी लियोन और एवलीन शर्मा सेक्स का तड़का लगाने के लिए रखी गयी थी पर दोनों ही दर्शको को रिझाने में नाकामयाब रही है।





एक्टिंग : फिल्म में सनी लियोन की एक्टिंग सामान्य रही है। उनके अलावा राम कपूर ने एक बार फिर से दर्शको को हमशक्ल की तरह ही निराश किया है। फिल्म में सेक्सी सनी ने पानी में अपनी हॉट अदाएं और सेक्सी बदन दिखाने के अलावा कुछ खास नही किया है पर उनके ये बोल्ड सीन इतने भी कामुक नही है कि दर्शक दांतों तले उंगलिया दबा लें। इन दोनों लीड रोल कलाकारों के अलावा फिल्म में एवलीन शर्मा और नवदीप छाबड़ा के बारे में कहा जा सकता है कि उनकी एक्टिंग ठीक रही है।





संगीत : कुछ कुछ लोचा है फिल्म में कहानी से ज्यादा संगीत ही है। फिल्म में कही-कही ऐसे सीन आते है कि लगातार गाने आ जाते है। फिल्म का सबसे पॉपुलर गीत दारु पिके डांस करे है जिसे लोग काफी पसंद कर सकते है। इसके अलावा कोई ऐसा गीत नही है जिसे दर्शक सुनना चाहेगे।





फिल्म का मजबूत पक्ष : 144 मिनट की फिल्म देखने के बाद एक भी मजबूत पक्ष नजर नही आता है जिसके दम पर कहा जा सके फिल्म देखने लायक है।





फिल्म ना देखने की वजह : फिल्म ना देखने की सबसे बड़ी वजह इसके मुकाबले पिकू जैसी जबरजस्त हास्य फिल्म का होना है। इसके अलावा अगर आप पोर्न स्टार सनी के अदाओं के दीवाने है तो इसमे कुछ ऐसा खास नही है जिसके लिए आप सिनेमाघर तक जाएँ।


कुल मिलाकर कुछ कुछ लोचा ऐसी फिल्म है जिसे फिल्म क्रिटिक एक स्टार भी नही दे पाए है इसलिए अच्छा होगा आप सिनेमाघर में सनी के साथ दारु पिके डांस करे की जगह आप घर में छोटी पार्टी रख दोस्तों से मुलाकात कर घर पर ही नाच लें।









कुछ कुछ लोचा है फिल्म वीडियो

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :