ट्यूबलाइट फिल्म वॉलपेपर

ट्यूबलाइट सेलिब्रिटीज

Salman Khan , Zhu Zhu, Sohail Khan, Paras Arora


ट्यूबलाइट फिल्म का शोर्ट रिव्यू

कबीर खान की ट्यूबलाइट फिल्म को सलमान ने फ्यूज होने से बचाया



स्टार कास्ट : सलमान खान, झू झू, सोहेल खान, ओम पुरी, मतिन रे टंगू

डायरेक्टर : कबीर खान

ट्यूबलाइट फिल्म में क्या अच्छा है : ट्यूबलाइट फिल्म की बात करें तो इस फिल्म में शाहरुख का कैमियो, अंतिम दृश्य में सलमान खान की एक्टिंग लाजवाब है। फिल्म में मै अगर कहूं, किंतु परन्तु गीत पर किया गए कैमरावर्क सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया है।

ट्यूबलाइट फिल्म में क्या बुरा है : फिल्म की स्क्रिप्ट कमजोर होने के साथ साथ फिल्म उस भावनात्मक रूप से कनेक्ट नही कर पाई है जिसकी उम्मीद में दर्शक सिनेमाघर तक जा रहे है।

ट्यूबलाइट फिल्म क्यों देखे : अगर आप सलमान खान के बड़े फैन है तो आप यह फिल्म देख सकते है।

ट्यूबलाइट फिल्म क्यों ना देखे : 2 घंटे 16 मिनट की इस मूवी में अगर आप सलमान के अतरिक्त कुछ और देखने की उम्मीद कर रहे है तो आप सिनेमाघर के गेट तक ना पहुंचे।



ट्यूबलाइट फिल्म की पूरी कहानी : कुमाऊं के जगतपुर नामक एक छोटे से शहर में लक्ष्मण सिंह बिष्ट (सलमान खान) एक धीमा और विवेकपूर्ण व्यक्ति रहता है। लक्ष्मण को हर बात देर से समझ आती है इसलिए पूरा जगतपुर उसे ट्यूबलाइट नाम से पुकारता है। लक्ष्मण अपने छोटे भाई भरत सिंह बिष्ट (सोहेल खान) को देखभाल बड़े प्यार से करता है। लक्ष्मण और भरत दोनों एक दुसरे को अपना सबकुछ मानतें है क्योकि उनके माता पिता का देहांत बचपन में ही हो गया था।



1962 भारत-चीन युद्ध के पहले फिल्म में सब कुछ ठीक जा रहा होता है लेकिन फिल्म की कहानी टर्न लेती है और इस युद्ध के लिए भारत के युवाओं को भारतीय सेना में शामिल किया जाता है। लक्ष्मण सेना में शामिल होने का भी प्रयास करता है लेकिन शारीरिक परीक्षा में विफल रहता है जबकि उसके छोटे भाई भरत को सेना में भर्ती कर लिया जाता है।



सेना में भर्ती होने के बाद भरत को इंडो-चाइना के लिए युद्ध पर जाना पड़ता है जहाँ से उसके वापिस आने की उम्मीद लगभग समाप्त हो जाती है। लक्ष्मण वहां तैनात सेना प्रमुख से पूछताछ करता है मेजर राजवीर टोकस (यशपाल शर्मा) लक्ष्मण का भाई युद्ध से लौटेगा या नही इसका एक उपयुक्त उत्तर नहीं देता है इसके अतिरिक्त अन्य लोगों का भी मानना है कि भरत अब तक मर चुका है लेकिन लक्ष्मण को यकीन है कि उसका भाई वापिस आयेंगा। बेंई चाचा (ओम पुरी) ने लक्ष्मण को बताया है कि विश्वास से पहाड़ों को भी उनकी जगह से बदला जा सकता है।



लक्ष्मण चाचा की विस्वास वाली बात को बहुत शाब्दिक रूप से लेता है और अपने भाई को वापिस लाने के लिए निकल पड़ता है। वापसी के इस सफर पर उसकी मुलाक़ात चीनी मूल के एक भारतीय ली लिंग (झू झू) उसके छोटे बेटे गुवो (मतिन रे टंगू) और जादूगर शाशा (शाहरूख खान) से होती है। चाचा के गांधीवादी सिद्धांत का पालन करते हुए नफरत होने के बावजूद वह चीनी लोगो से आखिर में दोस्ती कर लेता है।



भारतीय सैनिक भरत की तलाश में निकले लक्ष्मण को चीनी सैनिक कैद कर लेते है, अब फिल्म में यह देखन है कि क्या उसका विस्वास सच साबित होता है या नही इसके अतरिक्त वह अपने साथ अपने छोटे भाई को लेकर अपने वतन लौट पाएगा या फिर नही, यह जनाने के लिए आपको ट्यूबलाइट देखने सिनेमाघर तक जाना पड़ेगा।



स्क्रिप्ट समीक्षा : ट्यूबलाइट फिल्म की कहानी अमेरिकी युद्ध-ड्रामा लिटिल बॉय से काफी प्रेरित है और डायरेक्टर ने इस फिल्म को असली बना कर श्रेय लेने के प्रयास में छोटे छोटे कई बदलाव किए है।



फिल्म की स्क्रिप्ट इस फिल्म का सबसे कमजोर हिस्सा है। फिल्म का मूल उदेश्य तलाश करते हुए शांति का संदेश देना था लेकिन लगता है कि भूलभुलैया में कही खो गयी है। लक्ष्मण का किरदार और दमदार किया जा सकता था लेकिन स्क्रिप्ट में उसके चरित्र को कई प्रश्नों के साथ छोड़ दिया जाता है।



फिल्म में कई किरदार अनावश्यक रूप से सामने आते है। शुरू में यह बात समझ में नही है आती है कि चाचा क्यों ली लिंग और उसके बेटे के साथ समय बिताने के लिए लक्ष्मण को मजबूर कर रहा है। अंत में अनुमान लगाया जा सकता है लेकिन फिल्म का अंत और दिलचस्प किया जा सकता था।



फिल्म की कहानी तो काफी अच्छी है लेकिन इस स्क्रिप्ट को स्क्रीन पर पेश करने में सफल नही हुए है।



स्क्रिप्ट में इमोशनल सीन काफी अधिक है लेकिन दर्शकों का जुडाव उन सीन से नही हो पाता है और यही बात इस स्क्रिप्ट और फिल्म दोनों को कमजोर करती है।



स्टार परफॉरमेंस : सलमान की एक्टिंग लक्ष्मण के रूप में अच्छी रही है लेकिन इसे उनके सर्वश्रेष्ठ रोल की गिनती में नही रखा जा सकता है। फिल्म में उनके रियल और स्क्रीन भाई सोहेल के साथ केमिस्ट्री बहुत प्यारी लगती है फिल्म के अंतिम दृश्य में कुछ पलों के सदमा फिल्म कमल हासन के अभिनय की याद दिलाता है जिसमें लगता है कि श्रीदेवी उसे पहचान सकें।



सोहेल खान ने अपने रोल में औसत अभिनय किया है। उनके चेहरे के हाव भाव उनकी एक्टिंग की कमी को जाहिर करते है।

शाहरुख खान अपने कैमियो में जबरजस्त रहे है उसके मेकअप आर्टिस्ट की सराहना करनी चाहिए क्योकि उनकी एक्टिंग के साथ साथ उनका मेकअप काफी शानदार रहा है।



स्वर्गीय अभिनेता ओम पुरी ने इस फिल्म में हमेशा की तरह बेहतरीन एक्टिंग की है।



मोहम्मद जीशान अय्यूब और बृजेन्द्र कला अच्छे कलाकार है लेकिन स्क्रिप्ट में उनके रोल को अच्छे से नही लिखा गया है।



यशपाल शर्मा सेना मेजर के रूप में दमदार रहे है।

मतिन रे टंगू बाल कलाकार के रूप में काफी क्यूट और प्रतिभाशाली नजर आ रहे है। फिल्म में उनके पास करने के लिए बहुत कुछ नही था लेकिन फिर भी वह अपने रोल में ठीक रहे है। चीनी ब्यूटीफुल एक्ट्रेस झू झू ने इस फिल्म से बॉलीवुड में शुरुआत की है और वह अपने रोल में भारतीय दर्शकों को आकर्षित करने में कामयाब रही है।



डायरेक्शन और म्यूजिक रिव्यू : सलमान और ईद का मौका, इसलिए उनकी फिल्मों से अपेक्षा बढ़ जाती है यह तय माना जा रहा है कि डायरेक्टर कबीर खान की ट्यूबलाइट को बॉक्स ऑफिस पर धमाकेदार शुरुआत मिल सकती है।



सलमान और कबीर खान की पिछली फिल्म बजरंगी भाईजान ने सबका दिल छुआ था लेकिन इस बार डायरेक्टर चीन बॉर्डर पर फंस गए है क्योकि ट्यूबलाइट फिल्म उतनी प्रभावित नही करती है। फिल्म का ज्यादातर हिस्सा लक्ष्मण के आँसू या रोने के बारे में है या फिर उसके यकीन पर टिकी हुई है।



कबीर खान ने दर्शकों को ईमानदारी से रुलाने का प्रयास किया है लेकिन वह फिल्म और दर्शक बीच इमोशनली संबंध कायम करने में कामयाब नही हुए है। कबीर के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म की सिनेमेटोग्राफी और लोकेशंस की तारीफ की जा सकती है।



वैसे तो डायरेक्टर कबीर की यह फिल्म साठ के दौर पर बनाई गयी है लकिन फिल्म में आज की कई चीजे साफ़ दिखाई देती है जिसे डायरेक्टर की हल्की चूक काहा जा सकता है।



फिल्म में म्यूजिक की बात करें तो फिल्म रिलीज से पहले ही इसका रेडियो और मै अगर कहूं गीत हिट हो चुके थे। तिनका तिनका गीत भी सुनने लायक बना हुआ है।



फिल्म में अधिकतर गाने डाल कर कबीर खान ने फिल्म की रन टाइम बढ़ाने का प्रयास ही किया है। कुल मिलकर कहा जा सकता है कि इस कबीर खान की इस ट्यूबलाइट को फ्यूज होने से सलमान खान ने बचा लिया है।

ट्यूबलाइट फिल्म वीडियो

        

Comment Box

    User Opinion
    Your Name :
    E-mail :
    Comment :

Latest Movies Wallpapers